https://640168-ztk5vu3zffob12d1l8r.hop.clickbank.net

Random Posts

बुधवार, 31 जुलाई 2013

पार्टी में तय जगह को छोड़ हिलेरी से अकेले में मिले ओबामा, होने लगीं चर्चाएं

पार्टी में तय जगह को छोड़ हिलेरी से अकेले में मिले ओबामा, होने लगीं चर्चाएं

अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन से व्‍हाइट हाउस में अकेले में मुलाकात की है। ओबामा ने क्लिंटन को भोज पर आमंत्रित किया था लेकिन दोनों ने तय आधिकारिक स्‍थल पर भोज करने के बजाय अकेले में मिलने का फैसला किया।
ओबामा के साथ क्लिंटन की इस मुलाकात के बाद 2016 के राष्‍ट्रपति चुनाव में उनकी उम्‍मीदवारी की चर्चाएं तेज हो गई हैं। इस बारे में व्‍हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्‍ट ने कहा कि यह एक दोस्‍ताना लंच था। चार साल तक एक साथ काम करने के बाद दोनों के लिए साथ बैठकर बातें करने का यह एक मौका था। ओबामा के पिछले कार्यकाल में हिलेरी विदेश मंत्री थीं। ओवल हाउस में तय स्‍थान पर न बैठते हुए अमेरिकी राजनीति के इन दोनों हस्तियों ने खुले में लंच का आनंद लिया। इस साल फरवरी में हिलेरी के पद से हटने से बाद ओबामा ने उन्‍हें पहली बार लंच के लिए आमंत्रित किया था।
 
इससे पहले 2008 के राष्‍ट्रपति चुनाव में पार्टी की तरफ से उम्‍मीदवार बनने के लिए ओबामा और क्लिंटन के बीच जबर्दस्‍त मुकाबला हो चुका है। एक लंबी लड़ाई के बाद हालांकि ओबामा को पार्टी का उम्‍मीदवार बनाया गया। 
पार्टी में तय जगह को छोड़ हिलेरी से अकेले में मिले ओबामा, होने लगीं चर्चाएं

साल 2008 में जीत के बाद क्लिंटन ओबामा के अधीन काम करने को तैयार हो गईं। ओबामा ने उन्‍हें विदेश मंत्रालय की जिम्‍मेदारी सौंपी, जो अमेरिका का एक सबसे ताकतवर मंत्रालय माना जाता है। 
हिलेरी क्लिंटन मंगलवार को उप राष्‍ट्रपति जो बिडेन के साथ नाश्‍ता करने वाली हैं। ताजा सर्वेक्षणों के मुताबिक 65 वर्षीया हिलेरी अब भी अमेरिका की एक लोकप्रिय नेता हैं। हाल ही में ट्विटर ज्‍वाइन करने वाली हिलेरी के 6.5 लाख से ज्‍यादा फॉलोवर्स हैं। 
 sabhar : bhaskar.com


अमेरिका में बड़े सेक्स रैकेट का भांडाफोड़, टीनेजर्स से कराते थे गंदा धंधा

अमेरिका में बड़े सेक्स रैकेट का भांडाफोड़, टीनेजर्स से कराते थे गंदा धंधा

अमेरिका के इतिहास में अब तक का सबसे बड़े चाइल्ड सेक्स ट्रैफिकिंग का भांडाफोड़ हुआ है। एफबीआई ने अपनी कार्रवाई में 105 टीनेजर लड़कियों को सेक्स रैकेट के गर्त से बाहर निकाला है।
 चाइल्ड सेक्स ट्रैफिकिंग का यह जाल अमेरिका के 76 शहरों में फैला है। कार्रवाई में बचाई गई लड़कियों की उम्र 13 से 17 साल है। इन्हें प्रॉस्टिट्यूशन के लिए मजबूर किया जाता था।
एफबीआई ने छापे में प्रॉस्टिट्यूशन के धंधे से मोटी कमाई करने वाले150 दलालों को गिरफ्तार किया है।
एफबीआई के क्रिमिनल इन्वेस्टिगेटिव डिविजन के असिस्टेंट डायरेक्टर रोनॉल्ड होस्को ने सोमवार को बताया कि वेश्याओं के 150 दलाल टीनेजर बच्चों और एडल्ट लड़कियों के शारीरिक शोषण में शामिल हैं।

एफबीआई के एजेंट्स होटल के एक कमरे में चाइल्ड सेक्स ट्रैफिकिंग के शिकार बच्चों को पहचानने के लिए लड़कियों से मिले।
फबीआई का कहना है कि इनमें 60 फीसदी टीनेजर ऐसी हैं जो अपने रिश्तेदारों और नजदीकी संबंधियों के सौतेले व्यवहार से तंग होकर भाग निकली थीं और वे देह व्यापार की गर्त में गिर गईं। sabhar : bhaskar.com


कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

दुनि‍या भर में लोग यह मानते हैं कि इस्‍लामी संस्‍कृति के चलते ईरान में युवा खुलकर अपनी जिंदगी नहीं जी पाते हैं। लेकि‍न ऐसा नहीं है। ईरानी युवा, जि‍नमें लड़के-लड़कि‍यां दोनों शामि‍ल हैं, बिंदास लाइफ के पैरोकार हैं। वे न सिर्फ आजाद जिंदगी की पैरोकारी करते हैं, बल्‍कि खुद भी अपनी लाइफ बिंदास तरीके से जीते हैं। एक तरफ ईरान अमेरि‍का के सख्‍त खि‍लाफ है तो दूसरी तरफ ईरानी युवाओं के घरों और उनके कमरों में पश्‍चि‍मी संस्‍कृति का पूरा प्रभाव देखा जा सकता है। ईरान के कई फोटोग्राफरों ने युवाओं की इस बिंदास लाइफ को पहली बार दुनि‍या के सामने एक्‍सप्‍लोर कि‍या है। 
 
क्रि‍येटि‍व डायरेक्‍टर एनरि‍को बोसन के डायरेक्‍शन में ईरान के 15 फोटोग्राफरों ने ईरानि‍यन लि‍विंग रूम की यह तस्‍वीरें खींची हैं। इन तस्‍वीरों को फैब्रि‍का नाम की एक कि‍ताब में प्रकाशि‍त कि‍या गया है। वहीं ईरानी युवाओं के इस बिंदास अंदाज को देखते हुए कुछ कठमुल्‍लों ने इसपर बैन लगाने की मांग भी शुरू कर दी है। इन फोटोग्राफरों में मो.महदी अम्‍या, माजि‍द फराहनी, सानि‍या गोलजर, सनाज हाजि‍खानी, हामेद इलखान, अली कावेह, माहशि‍द महाबोबीफर, मेहदी मोरादपुर, सहर पि‍शसारेन, नागर सदेहवंदी, हाशेम शकेरी, सि‍ना शीरी, मुर्तजा सूरानी, नाजनीन, अली ताजि‍क शामि‍ल रहे। 
कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

यासमीन तो बगैर शराब पि‍ए ही अपने कमरे में डांस कि‍या करती हैं। 

कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

अपने घर में डांस करता एक जोड़ा। ईरान में इस तरह के डांस भी प्रतिबंधि‍त हैं।
कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

तेहरान में एक पार्टी में जाने के लि‍ए तैयार होती एक युवती। 
कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

जोराह सि‍गरेट की भी शौकीन हैं। इस तस्‍वीर में उन्‍होंने अपने दोस्‍तों के साथ पार्टी की और सि‍गरेट पी। हालांकि इस्‍लामी कानून के मुताबि‍क इस पार्टी में जो ड्रिंक सर्व हुई, उसमें एल्‍कोहल नहीं था। 

कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

ब्‍यूटी सैलून में अपना मोबाइल फोन चेक करतीं जोराह। ईरान में जब गर्मियां कम होती हैं तो जोराह और उनके जैसी कुछ हि‍म्‍मती महि‍लाएं इस्‍लामि‍क ड्रेस कोड के खि‍लाफ कपड़े पहनती हैं।  साघी अपने मॉडेस्‍ट आउटवि‍यर पहनकर शॉपिंग पर जाना पसंद करती हैं जबकि उन्‍हीं की उम्र की दूसरी लड़कि‍यां कि‍चन में खाना बनाना और बातें करना पसंद करती हैं। 
 कट्टरपंथियों को बंद कमरे में 'धोखा' देती हैं ईरानी लड़कियां, देखें तस्‍वीरें

एक कैटलॉग में बालों का कलर देखतीं जोराह। हालांकि महि‍लाओं के लि‍ए नि‍कलने वाली मैगजीन पर रोक है

sabhar : bhaskar.com

सोनी का सबसे शाही फैबलेट हुआ लॉन्च, फोन के साथ मिलेगा FREE इंटरनेट

सोनी का सबसे शाही फैबलेट हुआ लॉन्च, फोन के साथ मिलेगा FREE इंटरनेट

सोनी ने आखिरकार अपना महत्वकांक्षी फोन एक्सपीरिया Z Ultra फोन भारत में लॉन्च कर ही दिया। इस फोन को लेकर कंपनी पहले से ही काफी उत्साहित लग रही थी। सोनी की एक्सपीरिया सीरीज दुनिया भर में पहले से ही काफी लोकप्रिय रही है। अब इस नए अल्ट्रा फोन के आने से सैमसंग और एचटीसी के हाई बजट स्मार्टफोन को कड़ी टक्कर मिलेगी। भारत के सभी स्टोर्स में ये फोन 2 अगस्त तक मिलने लगेगा।
इस फोन में सभी लेटेस्ट फीचर्स हैं। इस फोन में एक और खासियत है। कंपनी के साथ वोडाफोन का एक एग्रीमेंट है। अगर आप नया एक्सपीरिया ZU लेने वाले हैं तो आपको 2 महीनो के डाउनलोडिंग पीरियड के साथ वोडाफोन की तरफ से 8 GB डाटा फ्री मिलेगा। इस स्कीम के कारण नए एक्सपीरिया की सेल्स में भी काफी फर्क पड़ेगा। 
 सोनी का सबसे पहला और आकर्षक Z Ultra फैबलेट सबसे शानदार डिस्प्ले रेजोल्यूशन के साथ आता है। इसमें 1920*1080 पिक्सल का रेजोल्यूशन है। इतने हाई रेजोल्यूशन के साथ स्क्रीन पर HD ग्राफिक्स का मजा आप ले सकते हैं। इतने अच्छे डिस्प्ले के साथ इसमें गेमिंग का भी अपना अलग मजा होगा।इस फोन में स्नैपड्रैगन का लेटेस्ट 800 सीपीयू, क्वाड-कोर प्रोसेसर है। इसकी स्पीड 2.2 GHz की है, और साथ ही, 2 GB रैम। इस फोन को आप शानदार स्पीड वाला फोन भी कह सकते हैं। इतने पावरफुल प्रोसेसर और 2 जीबी रैम के साथ यह फोन गजब की तेजी दिखाएगा। अगर प्रोटेक्शन की बात की जाए तो इस फोन में स्क्रैच रेजिस्टेंस शैटरप्रूफ ग्लास है। मतलब अब फोन के गिर जाने पर भी आपका दिल नहीं टूटेगा। इसकी स्टाइलिश बॉडी बाकी एक्सपीरिया फोन की तरह ही लुभावनी और आकर्षक है। इसमें ऑन स्क्रीन की फीचर भी है।अगर पावर की बात की जाए तो इसमें 3050 mAh बैटरी है। इसका मतलब है कि इस फोन को बार-बार चार्ज करने से बचा जा सकता है। अगर आप किसी लंबी ट्रिप को प्लान कर रहे हैं तो यह फोन आपका अच्छा साथी बन सकता है।इस फोन में 16 GB की इंटरनल मेमोरी है। इसके अलावा इसकी मेमोरी को 64 GB तक बढ़ाया भी जा सकता है। अगर कनेक्टिविटी की बात की जाए तो इस फोन में सभी तरह के विकल्प मौजूद हैं। इसमें 2G, 3G, 4G, Wi-Fi और ब्लूटूथ 4.0 के साथ माइक्रो यूएसबी पोर्ट 2.0 भी है। अगर आप फोटोज खीचने के शौकीन हैं तो यह फोन आपको काफी पसंद आएगा। इस फोन में आठ मेगापिक्सल रियर कैमरा और दो मेगापिक्सल फ्रंट कैमरा है। यह फोन पूरी तरह से वाटर और डस्ट रेजिस्टेंस है यानी इसपर धूल और मिट्टी का कोई असर नहीं होता। अगर आप ट्रैकिंग और घूमने फिरने के शौकीन है तो यह फोन आपका अच्छा साथी हो सकता है। यह फोन फिलहाल तीन रंगों में उपलब्ध होगा ब्लैक, व्हाइट और परपल। इसके अलावा कंपनी ने ब्लूटूथ स्टीरियो हेड सेट और मैगनेटिक चार्जिंग डॉक भी लॉन्च किया है। सोनी कंपनी का कहना है कि यह फोन इस हफ्ते के अंत तक भारत के सभी बड़े स्टोर्स में उपलब्ध होगा। इसकी कीमत फिलहाल 46,999 से 44,999 के बीच रखी गई है। इसमें वायरलेस चार्जिंग फीचर भी है। 
sabhar : bhaskar.com

गुरुवार, 18 जुलाई 2013

खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें

खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें


आगरा. ताजनगरी से सौ किलोमीटर दूर मैनपुरी के औंछा इलाके में हर कोई दंग है। यहां श्रंगी ऋषि के आश्रम की खुदाई के दौरान विशालकाय नर कंकाल मिला है।
इसकी लंबाई 11 फुट है और चौड़ाई सामान्‍य व्‍यक्ति से चार गुना ज्‍यादा है। इस कंकाल पर अघोरी और तांत्रिकों की नजर लग गई है। वे इसकी खोपड़ी पाने के लिए 15 लाख रुपए तक की बोली लगा चुके हैं। 
आश्रम के साधु-संतों ने इसकी रक्षा के लिए इसे मिट्टी के नीचे दबा दिया था। लेकिन, दोबारा खोदने पर इसकी खोपड़ी नहीं मिल रही है। भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण की टीम आगरा से इसकी जांच करने के लिए जाएगी।
राज्‍य पुरातत्‍व विभाग में शोध प्रवक्‍ता मृत्‍यंजय मंडल कहते हैं कि यह विशालकाय नर कंकाल चौंकाने वाला है। उन्‍होंने कहा कि इतना बड़ा नरकंकाल शायद अब तक नहीं देखा गया है। 
 खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
दरअसल, श्रंगी ऋषि के आश्रम में मंदिर निर्माण के लिए खुदाई चल रही थी। तभी ताम्र पत्र, त्रिशूल, पत्‍थर के औजार सहित नरकंकाल मिला था। ग्रामीणों का मानना है कि यह कंकाल सदियों पुराना है। पहली बार देखने पर विश्‍वास नहीं होता है कि यह नर कंकाल है, लेकिन पूरा कंकाल देखकर यकीन हो जाता है।
 खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
नर कंकाल की सुरक्षा के लिए जिलाधिकारी ने दो सिपाहियों की तैनाती का आदेश दिया है, लेकिन पिछले एक सप्‍ताह से यहां सुरक्षा नहीं है। ऐसे में आश्रम के पुजारियों ने ग्रामीणों के सहयोग से उसे मंदिर परिसर में ही दफ़न करा दिया था। तब से लेकर अब तक ग्रामीण पुजारियों के साथ मिलकर उसकी सुरक्षा कर रहे हैं।
खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें

हालांकि, मंगलवार को जब दोबारा खोदकर देखा गया तो उसकी खोपड़ी नहीं मिली। आशंका जताई जा रही है कि खोपड़ी शायद मिट्टी के अंदर हो या चोरी कर ली गई हो।
खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
सदियों पुराने इस नर कंकाल की सूचना पर अघोरी और तांत्रिक सक्रिय हो गए हैं। संतों का कहना है कि तांत्रिक इस कंकाल की खोपड़ी और अन्य कंकालों को कब्जाने के लिए ग्रामीणों को लाखों रूपए का लालच दे रहे हैं।
खुदाई में निकला 11 फिट का नरकंकाल, भौंचक्के रह गए लोग, देखिए तस्वीरें
कई रात के अंधेरे में जमीन में दफ़न इस कंकाल को चुराने का प्रयास भी कर रहे हैं। ग्रामीण ऐसे अघोरियों को लगातार भगा रहे हैं।
 पुरातत्वविद् मानते हैं कि मूर्तियों और पत्थरों पर जिस तरह की आकृतियां बनाई गई हैं, वह सभी ऋषि परंपरा से जुड़ी हुई हैं। वहीं सबसे ज्यादा जिज्ञासा नर कंकाल को लेकर है।पुरातत्वविद् मंडल ने बताया कि नरकंकाल किसी ऋषि का हो सकता है, जो तपस्या के दौरान मिट्टी में दब गए हों। यह भी हो सकता है कि किसी ऋषि द्वारा समाधि ली गई हो। फॉरेंसिक जांच से पता चल पाएगा कि यह कितना पुराना है।औंछा के आसपास श्रंगी ऋषि के अलावा मार्कण्डेय, मयन और ओम ऋषि द्वारा की गई तपस्या के टीले भी अभी अवशेष के रूप में बचे हुए हैं।

sabhar  : bhaskar.com



गुरुवार, 11 जुलाई 2013

कृषि उत्पादों के लिए खुलेगा अमेरिकी बाजार!


आम, लीची, अंगूर व अनार को अमेरिकी बाजार में जगह दिलाने की होगी कोशिश

कृषि उत्पादों के लिए अमेरिकी दरवाजा खोलने की खातिर भारत अमेरिका पर दबाव डाल सकता है। केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्री आनंद शर्मा अमेरिकी दौरे पर गए हैं जहां अमेरिका के वाणिज्य व उद्योग मंत्री से इस मसले पर बात करेंगे। वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक भारत मुख्य रूप से आम, लीची, अंगूर व अनार जैसे फलों को अमेरिकी बाजार में जगह दिलाने का प्रयास करेगा।
वाणिज्य मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक, वर्ष 2007 में अमेरिका ने भारतीय आम को अमेरिकी बाजार में बेचने की इजाजत दे दी थी। लेकिन किरणन जैसी समस्याओं के कारण अमेरिका को आम का निर्यात संभव नहीं हो सका है। अब अमेरिका ने यह प्रस्ताव रखा है कि आम की खेप को नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास में क्लीयरेंस देने का काम किया जा सकता है।
इससे आम निर्यातकों की लागत कम आएगी। अनार के निर्यात मामले में भी यही दिक्कत आ रही है। वहीं, भारतीय अंगूर के लिए अमेरिकी बाजार खुलवाने की दिशा में भारत वर्ष 2008 से प्रयासरत है। इस संबंध में अंगूर की खेती में इस्तेमाल किए जाने वाले पेस्ट (कीड़ा हटाने वाली दवा) से जुड़े जोखिम का पूरा विवरण भी अमेरिका को दिया जा चुका है।
लेकिन अब तक इस मामले में अमेरिका की तरफ से कोई अंतिम फैसला नहीं दिया गया है। लीची के निर्यात का मामला भी अमेरिका की पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी (ईपीए) में अटका पड़ा है।
सूत्रों के मुताबिक, इन सभी मसलों पर अमेरिकी सरकार के नुमाइंदों से बात की जाएगी। इस साल जनवरी से मई के दौरान भारत ने अमेरिका को 16.27 अरब डॉलर मूल्य का निर्यात किया है।
वहीं, इस अवधि में भारत ने अमेरिका से 9.67 अरब डॉलर मूल्य का आयात किया है। वर्ष 2012 में भारत व अमेरिका के बीच कुल 60.98 अरब डॉलर का व्यापार हुआ। इनमें भारतीय निर्यात की हिस्सेदारी 36.02 अरब डॉलर की रही। sabhar : bhaskar.com

चीन ने बनाया 100 मेगापिक्सल का कैमरा, खीचेगा कई किमी तक की फोटो


बीजिंग: चीन के एक संस्थान ने हवाई मानचित्रण, आपदा निगरानी और बेहतर परिवहन प्रणालियों के उपयोग में आने वाला 100 मेगापिक्सेल का कैमरा बनाया है।
 
चाइना एकेडमी ऑफ सांइस (सीएएस) ने एक बयान में कहा कि इंस्टीट्यू ऑफ ऑप्टिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स ने 100 मेगापिक्सल वाला आईओ-3-कानबान कैमरा विकसित किया है। सीएएस का दावा है कि यह दुनिया का सर्वाधिक पिक्सल वाला कैमरा है।
 
बयान में कहा गया है कि यह कैमरा 10,240 गुणा 10,240 पिक्सल की तस्वीर उतार सकता है। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी ने सीएएस के बयान के आधार पर लिखा है कि यह कैमरा बहुत छोटा है और इसका आकार केवल 19.3 सेमी है।
 
एजेंसी ने बताया कि इसे शून्य से 20 डिग्री सेल्सियस से कम और 55 डिग्री सेल्सियस के उच्चतम तापमान पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। sabhar : bhaskar.com

गर्लफ्रेंड को बंधक बना कर सात दिनों तक अपने कुत्ते से करवाता रहा सेक्स

गर्लफ्रेंड को बंधक बना कर सात दिनों तक अपने कुत्ते से करवाता रहा सेक्स
मैसाचुएट्स के एक युवक का अपनी गर्लफ्रेंड को कई दिनों तक बंधक बनाकर उसे अपने कुत्ते के साथ सेक्स करने पर मजबूर करने का मामला सामने आया है। इस दौरान यह अपनी पत्नी के अश्लील वीडियो भी बनाता रहा। 28 जून से 4 जुलाई तक जस्टिन मुस्तफा नाम के इस युवक ने अपनी गर्लफ्रेंड को मारा-पीटा और उसे कई बार हेरोइन का इंजेक्शन भी दिया। 
 
पांच जुलाई को किसी तरह से पीड़ित युवती भागकर पुलिस के पास पहुंची और उसने पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। युवती का कहना था कि उसके ब्वयॉफ्रेंड ने उससे जबरन कुत्ते के साथ सेक्स करने पर मजबूर किया और धमकी दी कि अगर उसने किसी को इस बारे में बताने की सोच तो वह इस हरकत का वीडियो लोगों में बांट देगा।
 
पुलिस ने मुस्तफा को छह जुलाई को गिरफ्तार कर लिया। उसने अपना गुनाह कबूल नहीं किया है। पुलिस का कहना है कि मुस्तफा ने अपनी गर्लफ्रेंड पर शक करने के बाद ऐसा किया। मुस्तफा इससे पहले भी जेल जा चुका है और उसे लगता था कि उसके जेल में रहने के दौरान उसकी गर्लफ्रेंड उससे बेवफाई करती है। इससे पहले उसे एक महिला के साथ सेक्स के दौरान चोरी से अपना और उसका वीडियो बनाने के आरोप में पकड़ा था। मुस्तफा ने यह वीडियो बाद में उस महिला और उसके नए ब्वॉयफ्रेंड को भेज दिया था। 

इससे पहले फरवरी महीने में भी ब्रिटेन में बलात्कार की उस घटना ने सबको हिला कर रख दिया था। एक व्यक्ति ने घोड़ी को अपनी हवस का शिकार बनाया। युवक को पड़ोसी के घोड़ी के साथ सेक्‍स करते गिरफ्तार किया गया।
 
अमेरिकी नागरिक इस युवक को पुलिस ने सार्वजनिक रूप से अश्‍लीलता बरतने और आपराधिक अतिचार के आरोप में जेल भेज दिया है। अंग्रेजी अखबार 'द सन' के मुताबिक व्हाट्रोन काउंटी टेक्सास के एंड्र्यू मेंडोजा ने पुलिस के सामने अपनी गलती मान ली है।
 
29 वर्षीय आरोपी ने हालांकि यह भी कहा कि वह 'अश्व पुरुष' पैदा करने का प्रयास कर रहा था। जानकारी के मुताबिक उस युवक ने पूछताछ पर पुलिस को बताया है, 'मैं अपने घर पर अपनी गर्लफ्रेंड की कॉल का इंतजार कर रहा था। मैंने कहा कि अगर वह मुझे कॉल नहीं करेगी तो मैं पड़ोसी की घोड़ी के पास चला जाऊंगा। मैं घोड़ी से एक बच्चा पैदा करने का प्रयास कर रहा था। मैंने सोचा कि इससे अश्व पुरुष पैदा होगा।'इससे पूर्व अमेरिका के लेक हावासु सिटी से एक बीस वर्षीया युवती को 21 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। इस युवती पर कथित रूप से दो कुत्तों के साथ सेक्स करने का आरोप था। ब्रिटनी एंजेलिक सोनियर ने अपने ब्वॉयफ्रेंड के सामने यह बात मानी थी कि उसने कुत्तों के साथ सेक्स किया है। इस सेक्स के पीछे  कारण उसने फंतासी बताया।
 
पुलिस रिपोर्ट में कहा गया है कि सोनियर ने अपने ब्वॉयफ्रेंड को बताया था कि उसने कुत्तों के साथ ओरल व वैजाइनल दोनों ही तरह का सेक्स किया। इसके लिए उसने इन कुत्तों को बाकायदा ट्रेन्ड भी किया था, जिसके कारण उन्होंने कोई अजीब हरकत नहीं की। पुलिस ने पहले सोनियर के खिलाफ जानवरों के साथ वहशीपन दिखाने का मामला दर्ज करवाया था, लेकिन बाद में इसे बदलकर प्रकृति के खिलाफ अपराध में तब्दील कर दिया गया।
 
मालूम हो कि विदेशों में इस तरह की यह पहली वारदात नहीं है। इससे पहले भी एक महिला को अपने कुत्ते के साथ सेक्‍स करना महंगा पड़ गया था। दोनों सेक्‍स में इस कदर मशगूल हो गये कि एक-दूसरे से अलग होने के लिये डॉक्‍टर का सहारा लेना पड़ा था। sabhar : bhaskar.com

मंगलवार, 9 जुलाई 2013

एक ऐसी बिल्डिंग जिसके पांचवें, छठे और सातवें माले के बीच से गुजरता है हाईवे

एक ऐसी बिल्डिंग जिसके पांचवें, छठे और सातवें माले के बीच से गुजरता है हाईवे

जापान में एक ऐसी गगनचुंबी इमारत है जिसके बीच से हाईवे गुजरता है। ओसाका के फुकुशिमा -कू स्थित गेट टावर बिल्डिंग 236 फीट ऊंची है। हैंशिन एक्सप्रेसवे सिस्टम नामक हाईवे 16 मंजिला इस इमारत के पांचवें, छठे और सातवें माले के बीच से होकर गुजरता है। जगह के इस्तेमाल के कारण प्रशासन बिल्डिंग के मालिक को इन तीन मंजिलों का किराया चुकाता है। 
इस बिल्डिंग को डिजाइन किया है अजूसा सेकेई और यमातो निशिहारा ने। इस गोलाकार बिल्डिंग में डबल कोर कंस्ट्रक्शन किया गया है। बिल्डिंग की लिफ्ट हाईवे के तीन मालों पर नहीं रुकती है। 
एक ऐसी बिल्डिंग जिसके पांचवें, छठे और सातवें माले के बीच से गुजरता है हाईवे
हाईवे बिल्डिंग से सटा हुआ नहीं है इसके नीचे बना ब्रिज हाईवे को सहारा देता है। हाइवे के आस-पास एक खास स्ट्रक्चर बनाया गया है जो गाड़ियों के शोर और वाइब्रेशन को बिल्डिंग में जाने से रोकता है।

एक ऐसी बिल्डिंग जिसके पांचवें, छठे और सातवें माले के बीच से गुजरता है हाईवे

इस बिल्डिंग की छत पर एक हैलीपेड भी बना है। 1992 में बनकर तैयार हुई इस बिल्डिंग का नक्शा 198२ में तैयार किया गया था। मगर इसके परमिट को रोक दिया गया था। 

sabhar : bhaskar.com



एडिसन की मशीन के जरिए आत्माओं से बातें करने का दावा



कोलकाता. विक्का धर्म की एक पुजारिन ने वैज्ञानिक थॉमस एडिसन की ‘स्पिरिट मशीन’ से आत्माओं से बातें करने का दावा किया है। ऐसा माना जाता है कि आत्माओं से बातचीत करने के लिए एडिसन ने यह मशीन बनाई थी। पुजारिन इप्सिता रॉय चक्रवर्ती ने अपनी नई किताब ‘स्पिरिट्स आई हैव नोन’ में दावा किया है कि एडिसन ने ‘स्पिरिट मशीन’ या ‘स्पिरिट फोन’ का भी आविष्कार किया था।
 
 
इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। उन्होंने बताया कि एडिसन का यह उपकरण एक फ्रिक्वेंसी पर काम करता है। जिससे उन तरंगों को पकड़ा जा सकता है जिनकी मदद से आत्माओं का पता लगाया जा सकता है। ऐसा माना जाता है कि एडिसन और उनके असिस्टेंट डॉ. मिलर हचिन्सन आत्माओं से बातचीत करने के लिए एक मशीन बनाने पर काम कर रहे थे। लेकिन उनकी सफलता को लेकर संदेह है। इप्सिता के मुताबिक उन्होंने एक वकील की मृत पत्नी की आत्मा से बातचीत की।
 
 
शरीर खत्म होता है तत्व नहीं इप्सिता ने कहा कि एडिसन का मानना था कि हमारा शरीर हजारों तत्वों से बना है। जब शरीर खत्म हो जाता है तो ये तत्व ही रह जाते हैं। वे शरीर से अलग हो जाते हैं। लेकिन खत्म नहीं होते और उनसे संपर्क किया जा सकता है। उनका मानना था कि यदि हम कभी इनसे संपर्क स्थापित करने में सफल रहे तो यह केवल वैज्ञानिक तरीकों से ही संभव होगा।  sabhar  : baskar.com

इस नाई के पास है अरबों की संपति, आज भी काटते हैं लोगों के बाल

सफलता की बुलंदियों को हर इंसान छूना चाहता है. सफल लोगों के ठाठ-बाट को देख आपमें-हममें भी सफल होने की चाहत जोर मारने लगती है. लेकिन इसके लिए कोई जादू की छड़ी आज तक बनी नहीं. ना ही कोई जिन्न हुआ जो आपकी आज्ञा मान ले और आपको रातों-रात सफल बना दे. यह ऐसी चीज है, जिसके लिए आपको कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत होती है. तभी आपकी सफलता और उसके लिए किए गए संघर्ष की कहानियां लोग सुनते-सुनाते हैं, पढ़ते हैं. 
 
रतन टाटा, मुकेश अंबानी, मार्क जुकरबर्ग को आज कौन नहीं जानता? लेकिन क्या ये सारे लोग पैदा होते ही सफलता का स्वाद चख चुके थे? या इनकी सफलता के पीछे इनका संघर्ष, इनका परिश्रम और इनकी लगन है? इन नामचीन लोगों के अलावा और भी कई ऐसे नाम हैं, जिन्होंने अपने मेहनत के दम पर सफलता का इतिहास रचा. बैंग्लोर के रमेश बाबू कभी एक मामूली से नाई हुआ करते थे. लेकिन अपनी दूरदृष्टि, मेहनत और लगन से आज अरबों के मालिक हैं. इनके पास रोल्स रॉयस, मर्सिडीज, बीएमडब्ल्यू जैसे लग्जरी कारों का काफिला है.  
 इस नाई के पास है अरबों की संपति, आज भी काटते हैं लोगों के बाल

रमेश बाबू
 
इन सज्जन का नाम है रमेश बाबू और इनकी उम्र् है महज 41 साल। जब वे 7 साल  के थे तो उनके पिता गुजर गए। पिता वहां नाई का काम रते थे। रमेश बाबू की मां ने लोगों के घरों में खाना पकाने का काम किया ताकि बच्चों का पेट भर सकें। उन्होंने अपने पति की दुकान महज 5 रुपए महीना पर किराए में दे दी।
 
रमेश बाबू तमाम कठिनाई के बावजूद पढ़ाई करते थे। उन्होंने इलैक्ट्रोनिक्स में डिप्लोमा किया। 1989 में उन्होंने पिता की दुकान वापस लेकर उसे नए सिरे से चलाया। इस दुकान को मॉडर्न बनाकर उन्होंने खूब पैसे कमाए और एक मारुति वैन खरीद ली। लेकिन चूंकि वह कार खुद नहीं चला पाते थे तो उन्होंने कार को किराए पर देना शुरु कर दिया। इस तरह से उन्होंने अपनी कंपनी रमेश टूर ऐंड ट्रेवल्स की शुरुआत की।
 
आज रमेश बाबू के पास 90 कारों का काफिला है इनमें मर्सिडीज से लेकर बीएमडब्ल्यू तक है। वह रॉल्स रॉयस जैसी महंगी कारें भी चलाते हैं जिनका एक दिन का किराया 50,000 रुपए तक है।
 
रमेश बाबू के पास 60 से भी ज्यादा ड्राइवर हैं। लेकिन आज भी उनका सैलून इनर स्पेस चल रहा है, जिसमें वो हर दिन 2 घंटे ग्राहकों का बाल काटते हैं।
इस नाई के पास है अरबों की संपति, आज भी काटते हैं लोगों के बाल

sabhar  ; bhaskar.com

अश्‍लील डांस पड़ेगा महंगा, गिरफ्तार हो सकती हैं मल्लिका शेरावत

वडोदरा. फिल्मी दुनिया की हॉट क्वीन मल्लिका शेरावत के लिए सोमवार का दिन बुरी खबर लेकर आया तो ऋषि कपूर की पत्नी और रणबीर कपूर की मां नीतू सिंह ने अपना जन्मदिन मनाया। मल्लिका को वडोदरा की एक कोर्ट ने अश्लील डांस के मामले में वारंट जारी किया है। हालांकि मल्लिका के लिए जमानती वारंट जारी किया गया है लेकिन जिस तरह से वे कोर्ट में पेश नहीं हो रही हैं यह उन पर भारी भी पड़ सकता है। वह सोमवार को भी कोर्ट में पेश नहीं हुईं। 
31 दिसंबर-2006 की रात मुंबई के जे डब्ल्यू मेरिएट होटल में मल्लिका ने कथित अश्लील नृत्य किया था। आरोप है कि डांस के दौरान ही मल्लिका ने एक युवक की पैंट उतार दी थी। कोर्ट ने एक फिल्म की शूटिंग के लिए मल्लिका के विदेश जाने की खबर पर यह वारंट जारी किया। मल्लिका पिछले काफी समय से कोर्ट में पेश नहीं हो रही हैं। 
आज युवा लोकप्रिय सितारे रणबीर कपूर की मां और निष्णात चरित्र अभिनेता ऋषि कपूर की पत्नी नीतू(सिंह) कपूर का जन्मदिन है। उनका परिचय मात्र सुपर स्टार की मां या लंबी सार्थक पारी खेलने वाले की पत्नी ही नहीं है, उन्होंने स्वयं लंबी पारी खेली है।
बाल कलाकार परंतु केन्द्रीय दोहरी भूमिकाओं ‘दो कलियां’ से ‘दो दूनी चार’ तक उन्होंने गहरा प्रभाव छोड़ा है और अभी खेल जारी है। नीतू रणबीर कपूर अभिनीत अभिनव कश्यप की ‘बेशर्म’ में लेडी इंस्पेक्टर बुलबुल पांडे बनी हैं और उनके पति इंस्पेक्टर चुलबुल पांडे हैं।
अश्‍लील डांस पड़ेगा महंगा, गिरफ्तार हो सकती हैं मल्लिका शेरावत
ज्ञातव्य है कि ‘दबंग’ के निर्देशक की यह दूसरी फिल्म है और उसमें सलमान खान ने इंस्पेक्टर चुलबुल पांडे की भूमिका इतनी सफलतापूर्वक निभाई थी कि यह उनका ब्रांड हो चुका है और इस ब्रांड चरित्र को रचने का श्रेय फिल्म के लेखक दिलीप शुक्ला व अभिनव को जाता है। नैतिकता का तकाजा है कि लेखक को भी धन्यवाद दिया जाना चाहिए, परंतु इन मूल्यों को लोप हुए लंबा वक्त गुजर गया।

मल्लिका शेरावत की हो सकती है गिरफ्तारी, कोर्ट ने जारी किया वारंट

बहरहाल, नीतू कपूर ने हबीब फैजल की ‘दो दूनी चार’ में आदर्शवादी गणित शिक्षक की पत्नी की भूमिका बड़े ही प्रभावोत्पादक ढंग से की थी। पटकथा पूरी तरह गणित शिक्षक ऋषि कपूर के पक्ष में थी और ऐसी पटकथा में दृश्य चुराना आसान नहीं था, गोया कि शेर के सामने बकरी चारा चर ले और शेर से आंख भी मिलाए। याद आता है कि नीतू सिंह ने फिल्म ‘चोरनी’ में भी कमाल का अभिनय किया था। shabhar : bhaskar.com

Ads