Ad Code

अगस्त, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं
 समाधि का पहला अनुभव कैसा होता है?

बुद्ध के पास जब भी कोई जाता था, कोई प्रश्न पूछने, तो बुद्ध कहते: रुक जाओ, दो वर्ष रुक जाओ। दो वर्ष चुप बैठो मेरे पास, फिर पूछ लेना।ऐसा हुआ, एक बड़ा दार्शनिक बुद्ध के पास गया। नाम था मौलुंकपुत्त । जाहिर दार्शनिक था। उसने बड़े प्रश…

भविष्य में ऐसी होगी हमारी दुनिया |

dusare ke man ki baat kaise jaane

ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला

विशिष्ट पोस्ट